ओएनजीसी का लाभ 61 फीसद बढ़कर 8,265 करोड़ रुपये हुआ

नई दिल्ली। सार्वजनिक क्षेत्र की कंपनी ऑयल एंड नेचुरल गैस कॉरपोरेशन (ओएनजीसी) का शुद्ध लाभ चालू वित्त वर्ष की दूसरी तिमाही (जुलाई-सितंबर, 2018) में 61 फीसद बढ़कर 8,265 करोड़ रुपये रहा है। कंपनी ने कहा कि तेल के ऊंचे दाम से हुए फायदे ने उत्पादन में कमी से हुए नुकसान की भरपाई कर दी। पिछले वित्त वर्ष की समान अवधि में कंपनी का शुद्ध लाभ 5,131 करोड़ रुपये रहा था।

एक बयान में कंपनी ने कहा कि डॉलर के मुकाबले रुपये के भाव में गिरावट से कंपनी को प्रति बैरल 5,117 रुपये की आय हुई जो पिछले वित्त वर्ष की समान अवधि के मुकाबले 61 फीसद ज्यादा है। ओएनजीसी को समीक्षाधीन तिमाही में प्राकृतिक गैस के एवज में प्रति मिलियन ब्रिटिश थर्मल यूनिट (एमएमबीटीयू) 3.5 डॉलर मिले। पिछले वित्त वर्ष की समान अवधि में इस मद में कंपनी को 2.48 डॉलर मिले थे। कंपनी ने कहा कि समीक्षाधीन अवधि में उसका राजस्व 47.6 फीसद बढ़कर 27,989 करोड़ रुपये पर पहुंच गया। हालांकि इस दौरान कंपनी का तेल उत्पादन सात फीसद गिरकर 49 लाख टन रहा। हालांकि समीक्षाधीन अवधि में गैस उत्पादन तीन फीसद बढ़कर 6.1 अरब घनमीटर पर पहुंच गया।

कंपनी ने बताया कि एक ठेकेदार द्वारा वेस्टर्न ऑफशोर क्षेत्र में उत्पादन यूनिट समय पर तैयार नहीं करने की वजह से उत्पादन में कमी आई। हालांकि कंपनी ने कहा कि इसी वजह से ठेका रद कर संयंत्र स्थापना का काम नए ठेकेदार को सौंपा गया है। कंपनी ने यह भी कहा कि वेस्टर्न ऑफशोर में दमन डेवलपमेंट प्रोजेक्ट पूरा होने के बाद गैस उत्पादन में इजाफा होने की उम्मीद है।