News in Hindi

भारतीय अर्थव्यवस्था के मंदी के बाद विश्व व्यापार में और गिरावट की आशंका | आरबीआई...

<p>भारतीय अर्थव्यवस्था पहले ही मंदी के दौर में है। वहीं, भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने विश्व व्यापार में गिरावट की संभावना जताई है। अग्रणी बैंकों ने एक मौद्रिक नीति रिपोर्ट में कहा है कि भविष्य के संकेतक बताते हैं कि इस साल विश्व व्यापार में गिरावट होगी।<br /> RBI ने कहा कि &quot;विश्व व्यापार में मंदी, जो 2018 के अंत में शुरू हुई, वर्ष 2019 में भी जारी है। ऐसे संकेत भी हैं कि वैश्विक व्यापार 2019 में और धीमा हो सकता है।&quot;</p> <p>अमेरिका में सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) की वास्तविक वृद्धि दर घटी है। जीडीपी 2019 की दूसरी तिमाही में घटकर दो प्रतिशत रह गई।</p> <p>RBI ने कहा कि 2019 की दूसरी तिमाही में ब्रेक्सिट और व्यापार तनाव के बीच अनिश्चितता के कारण यूरोजोन जीडीपी की वृद्धि धीमी है।</p> <p>निर्यात में गिरावट के बीच ऑटोमोबाइल उद्योग में संकट के कारण जर्मन अर्थव्यवस्था ने वर्ष की दूसरी तिमाही में अनुबंध जारी रखा। हालांकि तीसरी तिमाही में प्रवेश करने के बावजूद, इसकी गति अभी भी संतोषजनक नहीं है। फैक्ट्री गतिविधियां जो लगातार नौवें महीने गिर गईं</p> <p>इसके अलावा, दूसरी तिमाही में औद्योगिक और कृषि गतिविधियों के निराशाजनक परिणामों के कारण इटली की जीडीपी सिकुड़ गई। पिछली तिमाही की तुलना में दूसरी तिमाही में जापानी अर्थव्यवस्था का विस्तार हुआ, अमेरिका-चीन के बीच व्यापार तनाव के बीच और वैश्विक मांग में कमी आई।</p> <p>दूसरी तिमाही में ब्रिटेन की वास्तविक जीडीपी भी प्रभावित हुई क्योंकि अप्रैल की शुरुआत में ब्रेक्सिट की अनिश्चितता के कारण ऑटोमोबाइल कारखानों के बंद होने के कारण उत्पादन गतिविधि कम हो गई थी। चीन की पड़ोसी अर्थव्यवस्था सबसे कमजोर है। अमेरिका और वैश्विक मांग के अनुसार व्यापार तनाव कम होने के कारण लगभग 27 वर्षों में वर्ष की दूसरी तिमाही में। इसके अलावा, रूस, इंडोनेशिया और थाईलैंड जैसे देश भी मंदी का सामना कर रहे हैं।</p>
  Tue, October 15, 2019 Read Full Article

आर्थिक संकट की बजय से और कंपनियों के वित्तीय नतीजों का शेयर बाजार पर पड़ रहा है प...

<p>इस हफ्ते सामने आए प्रमुख वित्तीय आंकड़ों में घरेलू कंपनी की दूसरी तिमाही के वित्तीय नतीजे शामिल हैं, जो देश के शेयर बाजार के फैसले में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएंगे। इसके अलावा, यह घरेलू और विदेशी घटनाओं और डॉलर के मुकाबले रुपये की आवाजाही के प्रभाव को भी देखेगा। पिछले सप्ताह भारतीय शेयर बाजार में बिक्री दबाव के कारण संवेदी सूचकांक में उल्लेखनीय कमी आई। लेकिन इस हफ्ते, देश की कई प्रमुख कंपनियां 30 सितंबर को समाप्त तिमाही के लिए वित्तीय परिणामों की घोषणा कर रही हैं, जिन्हें निवेशकों द्वारा देखा जाएगा। और यह बाजार को दिशा देगा इसके अलावा, विदेशी निवेशकों के निवेश के रुझान जैसे कि एफपीआई और घरेलू संस्थागत निवेशक (डीआईआई) बाजार की दिशा तय करने में महत्वपूर्ण होंगे।</p> <p>प्ताह के पहले सत्र में सोमवार को पिछले सप्ताह के लिए प्रमुख निर्णय और आंकड़े, जैसे कि भारतीय रिजर्व बैंक ने पुनर्खरीद दर और जीडीपी वृद्धि दर को कम कर दिया। प्रतिक्रिया देखने के लिए गैर-कृषि रोजगार डेटा अमेरिका में प्रकाशित हुआ। भारतीय शेयर बाजार अगले दिन पाया जा सकता है। मंगलवार को दशहरा की छुट्टियों के कारण शेयर बाजार बंद रहेगा, जो मुख्य हिंदू त्योहार है। अगले दिन बुधवार को फेडरल रिजर्व की ओपन मार्केट कमेटी की हाल ही में हुई बैठक हुई।</p> <p>गुरुवार को, देश की प्रमुख कंपनियां, TCS, अपना दूसरा तिमाही का वित्तीय डेटा जारी करेंगी, और IndusInd Bank अपने वित्तीय परिणामों का भी खुलासा करेगा। अगले दिन शुक्रवार को, इंफोसिस चालू वित्त वर्ष की दूसरी तिमाही के लिए जानकारी का खुलासा करेगी।</p> <p>अगस्त के लिए देश का औद्योगिक उत्पादन डेटा सप्ताह के अंत में शुक्रवार को जारी किया जाएगा। सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि संयुक्त राज्य अमेरिका और चीन व्यापारिक समस्याओं को हल करने के लिए इस सप्ताह फिर से बातचीत शुरू करने वाले हैं ताकि निवेशक प्रासंगिक घटनाक्रम पर नजर रखेंगे।</p>
  Mon, October 7, 2019 Read Full Article

5 सितम्बर से शुरू हो गयी 'जियो गीगा फाइबर' सेवा 700 रुपये महीने के प्लान में इं...

<p>Jio Giga Fiber की Jio ब्रॉडबैंड सर्विस 5&nbsp;सितम्बर से शुरू होगी इस प्लान की खास बात यह है कि कंपनी 100 एमबीपीएस की न्यूनतम इंटरनेट स्पीड, फ्री लाइफटाइम फोन, मुफ्त एचडी टीवी और डिश मुहैया कराएगी, जिसकी न्यूनतम फीस 700 रुपये प्रति माह होगी। संयुक्त राज्य अमेरिका और कनाडा में असीमित अंतरराष्ट्रीय कॉल की जा सकती हैं। Jio Giga Fiber की सबसे कम स्पीड वाली Jio फोन लाइन पर 100 एमबीपीएस पर 500 रुपये प्रति माह का भुगतान करें। &#39;Jio Giga Fiber&#39; प्लान 700 रुपये से 10,000 रुपये प्रति माह का होगा। 2020 तक, Jio Giga Fiber के प्रीमियम ग्राहक लॉन्च के दिन ही फिल्में देख पाएंगे। Jio को &#39;फर्स्ट डे फर्स्ट शो&#39; के रूप में जाना जाता है। अब तक, कंपनी ने केवल सेवा शुरू करने के लिए कोई शुल्क नहीं लिया है। बस सुरक्षा शुल्क का भुगतान करना होगा जो कनेक्शन हटाए जाने के बाद वापस ले लिया जाएगा। हालाँकि, अभी तक जारी की गई फ़ाइबर योजनाओं की कोई सूची नहीं है। वार्षिक योजना का उपयोग करने वालों को एक मुफ्त एलईडी टीवी और सेट-टॉप बॉक्स मिलेगा।</p> <p>कई सुविधाओं के साथ Jio के ब्रॉडबैंड प्लान कंपनी को सबसे अधिक जोखिम में डाल सकते हैं। बैंक ऑफ अमेरिका मेरिल लिंच ने मंगलवार को जारी एक रिपोर्ट में यह समझ जताई। रिपोर्ट के मुताबिक, भारती एयरटेल को कुछ नुकसान हो सकता है क्योंकि इससे कंपनी Jio और Ban में दी गई इंटरनेट सेवाओं की पहुंच के कारण प्रतिस्पर्धा बढ़ेगी। रिपोर्ट में कहा गया है कि DTH कंपनी को सबसे बड़े संकट का सामना करना पड़ रहा है। रिलायंस की ब्रॉडबैंड और केबल सेवाओं की डिलीवरी का सीधा असर प्रसारकों पर नहीं पड़ेगा। लेकिन उपयोगकर्ता के राजस्व पर अप्रत्यक्ष प्रभाव पड़ेगा अगर ध्यान अमेज़न प्राइम और नेटफ्लिक्स के साथ प्रतिस्पर्धा करने के लिए अच्छी गुणवत्ता वाली सामग्री बनाने पर है और विज्ञापनकर्ता ऑनलाइन सामग्री पर खर्च करते हैं, तो यह लंबे समय में विज्ञापन खर्च को प्रभावित करेगा।</p>
  Fri, September 6, 2019 Read Full Article

एयर इंडिया को छह हवाईअड्डों पर तेल कंपनियों ने लगाई रोक

<p>तेल कंपनियों ने भारी कर्ज के तहत एयर इंडिया सरकारी एयरलाइंस के लिए 6 हवाई अड्डों पर ईंधन वितरण पर प्रतिबंध लगा दिया। वहीं, एयरलाइन के प्रमुख अश्वनी लोहानी ने फेसबुक पर एक टच पोस्ट लिखकर अपना दुख व्यक्त किया। उन्होंने कहा कि यह ईंधन प्रतिबंध व्यवसाय या प्रयास की कमी के कारण नहीं था। लेकिन भारी कर्ज के बोझ के कारण धन की कमी के कारण उन्होंने कहा कि बड़ा कर्ज एयरलाइन की सभी समस्याओं का कारण है।</p> <p>एयर इंडिया के ईंधन आपूर्ति प्रतिबंध सभी फंडों की कमी के कारण हैं। इसका एयरलाइन की दक्षता से कोई लेना-देना नहीं है और यह एयरलाइन के नवीनतम प्रयासों को प्रतिबिंबित नहीं करता है। इस वर्ष सरकार की वित्तीय सहायता के बिना 31 मार्च, 2019 तक एयर इंडिया का कुल बकाया 58,351 करोड़ रुपये है। कुल घाटा लगभग 70,000 करोड़ रुपये है। सरकार छोड़ने की कोशिश कर रही है। पिछले वित्तीय वर्ष में कंपनी असफल रही थी। लोहानी ने कहा कि कंपनी ने अपने परिचालन के सभी पहलुओं पर बड़ी मात्रा में ऋण का प्रभाव डाला है। इस स्थिति में, यह सोचें कि कंपनी अपनी आय के स्रोत से कुछ ऋण का भुगतान करेगी और फिर इस सत्य को समझने के बिना इस विशाल ऋण का आकलन करना होगा। उन्होंने कहा कि सब के बावजूद हमें ऊंची उड़ान भरनी है चाहे कोई भी हो</p>
  Tue, August 27, 2019 Read Full Article

अब बैंको के चक्कर लगाने से मिला छुटकारा । एक घंटे के कम समय में प्राप्त करें होम...

<p>भारत सरकार ने एक घंटे से भी कम समय में लघु, मध्यम और लघु उद्योगों (MSME) के लिए 1 करोड़ रुपये तक के ऋण की मंजूरी दी थी। हालाँकि, अब सरकारी बैंक खुदरा उत्पादों जैसे हाउसिंग लोन और कार लोन को पोर्टल psbloansin59 मिनट पर पेश करने की तैयारी कर रहे हैं। इस पोर्टल के माध्यम से, बैंक रिटेल क्रेडिट पोर्ट का विस्तार कर रहा है।</p> <p>आपको बता दें कि पोर्टल में psbloansin59minutes, SBI, Union Bank of India और Corporation Bank वर्तमान में MSME को 5 मिलियन रुपये तक उधार लेने के सिद्धांत को मंजूरी दे रहे हैं। बैंक ऑफ इंडिया खुदरा उत्पादों को इस पोर्टल के माध्यम से ग्राहकों तक पहुंचाने की योजना बना रहा है। बैंक ऑफ इंडिया इस परियोजना पर भी काम कर रहा है। बैंक ऑफ इंडिया के महाप्रबंधक सलिल कुमार स्वैन ने कहा कि पोर्टल के माध्यम से, ग्राहकों को गृह ऋण और कार ऋण प्राप्त होंगे।</p> <p>भारत में विदेशी बैंकों (IOB) को एक मिनट के लिए psbloansin59 प्लेटफॉर्म से अच्छी प्रतिक्रिया मिली है। अब, IOB न केवल MSME के लिए क्रेडिट सीमा को बढ़ाकर 5 करोड़ रुपये करने पर विचार कर रहा है, बल्कि खुदरा उत्पादों की भी तलाश कर रहा है। (होम लोन और कार लोन) भविष्य में इस प्लेटफॉर्म पर</p> <p>बैंक के एक अन्य वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि अगर उत्पाद लॉन्च किया जाता है, जैसे कि होम लोन और कार ऋण मंच psbloansin59 मिनट पर, यह बैंक के खुदरा व्यापार का विस्तार करेगा। इसके अलावा, लेनदेन की लागत कम हो जाएगी।</p>
  Thu, August 22, 2019 Read Full Article

4 महीने में भारतीय ऑटो सेक्टर में मन्दी आने से चली गयी 3.5 लाख नौकरियाँ।

<p>मोटर वाहन क्षेत्र में मंदी जारी है। इस स्थिति में, कारों और मोटरसाइकिलों की बिक्री में गिरावट के कारण कई स्रोतों से यह पता चला है। मोटर वाहन क्षेत्र में 3.5 लाख नौकरियां चली गयी । कई कंपनियों को कारखाने बंद होने को है । एक वरिष्ठ उद्योग स्रोत ने रायटर को बताया कि प्रारंभिक पूर्वानुमानों से संकेत मिलता है कि कार निर्माताओं, भागों निर्माताओं और डीलरों ने अप्रैल से लगभग 350,000 कर्मचारियों को निकाल दिया है । सूत्र से पता चला &nbsp;कि कार और मोटरसाइकिल निर्माताओं ने 15,000 लोगों और 100,000 स्पेयर पार्ट्स निर्माताओं को खाली कर दिया है, जबकि बाकी का काम डीलर स्तर तक पहुंच गया है।<br /> उद्योग से जुड़े एक वरिष्ठ सूत्र ने कहा कि व्यावसायिक क्षेत्र को उसकी मूल स्थिति में वापस लाने के लिए, मोटर वाहन उद्योग में शामिल अधिकारियों ने बुधवार को वित्त मंत्रालय के अधिकारियों के साथ बैठक की योजना बनाई है। यह बैठक व्यापारियों और उपभोक्ताओं के लिए करों को कम करने और वित्तपोषण तक पहुंच की आवश्यकता पर ध्यान केंद्रित करेगी। विन्नी मेहता, एसोसिएशन ऑफ ऑटोमोटिव मैन्युफैक्चरर्स ऑफ इंडिया (ACMA) की महानिदेशक, एक व्यापार समिति, ने जोर दिया। मोटर वाहन क्षेत्र एक मंदी में प्रवेश कर रहा है।</p> <p>जब खरीददारी में गिरावट आई, तो फ्रांस के वैलेओ और सुब्रोस सहित जापानी मोटरसाइकिल निर्माताओं, यामाहा मोटर और मोटर वाहन भागों ने अस्थायी रूप से लगभग 1,700 लोगों को निकाल &nbsp;दिया था। डेंसो कॉर्प और जापान के सुजुकी मोटर कार्पोरेशन के मालिक सुब्रोस ने खारिज कर दिया था। वीजीजी कौशिको में 800 कर्मचारी, पार्ट्स निर्माता, 500 लोग बेरोजगार हैं जबकि यामाहा और वैलेओ ने पिछले महीने 200 श्रमिकों को हटा दिया। इसी समय, ऐसी खबरें हैं कि भारतीय पहिया निर्माता अस्थायी कर्मचारियों की संख्या को 800 लोगों तक कम कर सकते हैं और इसके लिए तैयारी शुरू कर दी है।</p> <p>बजाज ऑटो की कुल बिक्री जुलाई में 5% घटकर 3,81,530 रह गई। कंपनी ने एक बयान में इस मुद्दे के बारे में जानकारी प्रदान की है। पिछले साल जुलाई में, बजाज ने 4,00,343 वाहन बेचे, जबकि घरेलू बिक्री पिछले साल के 2,37,511 से 13% घटकर 2,05,470 रह गई।<br /> देश की सबसे बड़ी कार निर्माता कंपनी मारुति सुजुकी ने पिछले छह महीनों में अस्थायी कर्मचारियों की संख्या में 6% की कमी की है। टाटा मोटर्स ने पिछले दो हफ्तों में चार कारखाने बंद कर दिए हैं। जबकि महिंद्रा ने कहा कि अप्रैल और जून के बीच लगभग 5 से 13 दिनों तक विभिन्न पौधों में कोई उत्पादन नहीं हुआ था। सूत्र ने कहा कि होंडा ने 16 जुलाई से राजस्थान संयंत्र में कुछ मॉडलों का उत्पादन बंद कर दिया था। 26 जुलाई से 15 दिनों के लिए ग्रेटर नोएडा में दूसरे संयंत्र में उत्पादन बंद करो।</p>
  Thu, August 8, 2019 Read Full Article

पेट्रोल के कीमतों में आयी गिराबट जाने अब कितने कम देने होंगे दाम |

<p>देश की राजधानी दिल्ली सहित देश के कई प्रमुख शहरों में आज पेट्रोल के कीमतों में आयी गिराबट आयी है। वहीं, डीजल की कीमत आज भी बनी हुई है। गैसोलीन की कीमत 2 पैसे से 7 पैसे तक सस्ती है। आज, इसका मतलब है कि आपको पेट्रोल खरीदने के लिए कल की तुलना में कम भुगतान करना होगा। आपको बता दें कि आज आपके शहर में पेट्रोल और डीजल किस &nbsp;कीमतों में बिक रहा है।</p> <p>आज की भारतीय राजधानी में तेल 6 पैसे से 73.29 रुपये प्रति लीटर सस्ता है। वहीं, डीजल की कीमतें 66.18 रुपये प्रति लीटर पर बनी हुई हैं। कोलकाता का तेल 2 स्थानों से सस्ता है, जिसकी कीमत 75.83 रुपये प्रति लीटर है। डीजल 68.29 रुपये के सबसे पुराने दाम पर बना हुआ है। यहां प्रति लीटर है</p> <p>जब नई दिल्ली और कोलकाता के बाद मुंबई के बारे में बात की जाती है, तो तेल की कीमत सप्ताह में 6 बार गिर गई है, जिसकी कीमत 78.90 रुपये प्रति लीटर है। डीजल भी सबसे पुरानी कीमत 69.36 पर यहां रह रही है। उसके बाद, चेन्नई तेल के सस्ते 7 पैसे की बात करें, जिसकी कीमत 76.11 रुपये प्रति लीटर है। डीजल सबसे पुरानी कीमत 69.90 रुपये पर है।</p> <p>अभी दिल्ली के आगे का इलाका नोएडा के बारे में बात कर बात करे तो यहाँ, पेट्रोल की कीमत में 4 पैसे की गिरावट आई है, जो कि पेट्रोल की कीमत 72.54 रुपये प्रति लीटर है। डीजल 65.29 रुपये में सबसे पुराना दाम है। यहाँ गुरुग्राम तेल के बारे में बात करते हैं। यहां, कीमत 5 पैसे से 73.09 रुपये प्रति लीटर तक सस्ती है और डीजल 65.41 रुपये प्रति लीटर पर स्थिर है।</p>
  Fri, July 26, 2019 Read Full Article

जून तिमाही में रिलायंस इंडस्ट्रीज का मुनाफा 7% बढ़कर 10104 करोड़ हो गया।

<p>रिलायंस इंडस्ट्रीज ने अप्रैल-जून तिमाही में 10,104 करोड़ रुपये का लाभ दर्ज किया। यह पिछले साल के मुनाफे से 6.8% अधिक है। उस समय, रुपये का लाभ Rs.9459 करोड़ था।</p> <p>डिजिटल सेवाओं में 55% राजस्व वृद्धि राजस्व पर उद्योग की निर्भरता बढ़कर 1,72,956 करोड़ रुपये हो गई है। यह पिछले वर्ष की पिछली तिमाही में 1,41,499 करोड़ रुपये की आय से 22.1% अधिक है। इस साल जनवरी-मार्च तिमाही से राजस्व 12.2% बढ़ा। डिजिटल व्यापार विकास और खुदरा व्यापार ने 55% डिजिटल सेवा राजस्व और 48% की खुदरा व्यापार में वृद्धि हुई है |</p> <p><strong>रिफाइनरी का सकल मार्जिन घटकर 8.1 डॉलर प्रति बैरल रह गया।&nbsp;</strong></p> <table border="1" cellpadding="1" cellspacing="1" style="width:400px"> <tbody> <tr> <td><strong>तिमाही</strong></td> <td><strong>जीआरएम (डॉलर/बैरल)</strong></td> </tr> <tr> <td>अप्रैल-जून 2019</td> <td>8.1</td> </tr> <tr> <td>जनवरी-मार्च 2019&nbsp;&nbsp; &nbsp;</td> <td>8.2</td> </tr> <tr> <td>अप्रैल-जून 2018</td> <td>10.5</td> </tr> </tbody> </table> <p>दूरसंचार व्यवसाय का लाभ 45.6% बढ़कर 891 दस मिलियन रुपये हो गया। पिछले साल जून तिमाही में Rs.612 करोड़ का लाभ देखा गया था। इस वर्ष की जनवरी-मार्च तिमाही के दौरान प्रत्येक तिमाही में लाभ 6.1% बढ़ा। लाभ 840 करोड़ रुपये है।</p>
  Sat, July 20, 2019 Read Full Article

रेल यात्रियों के लिए अच्छी खबर है; अक्टूबर से ट्रेनों में कन्फर्म सीट आसानी से म...

<p>रेल यात्रियों के लिए अच्छी खबर है; अक्टूबर से ट्रेनों में कन्फर्म सीट आसानी से मिल जाएगी; रेलवे इन तकनीकों को अपनाएगा<br /> ट्रेन से यात्रा करने वाले लोग अक्सर शिकायत करते हैं कि वे आरक्षण नहीं मिलती है । लेकिन पिछले साल अक्टूबर में, ट्रेन यात्रियों की शिकायत दूर करने की उम्मीद की है । अक्टूबर से ट्रेन में हर दिन चार लाख सीटें मिलेंगी |</p> <p>यह सब नई तकनीक के इस्तेमाल से संभव होगा। इस तकनीक से ट्रेनों और स्लीप कोच में ओवरहेड तारों द्वारा ऊर्जा का भुगतान किया जाता है और इसे जनरेटर कोच स्लीपर कोच की जगह से बदला जाता है। अधिकारी ने बुधवार को यह जानकारी दी।</p> <p>अब आपको बताते हैं कि यह कैसा होगा। अब अधिकांश ट्रेनें दो जनरेटर से सुसज्जित हैं, जिनमें से एक कोच को ऊर्जा की आपूर्ति करेगा और दूसरा आरक्षित होता है । भारतीय ट्रेनें नई तकनीक का उपयोग कर रही हैं, जिसे के रूप में जाना जाता है ओवरहेड पावर केबल का उपयोग करके इलेक्ट्रिक इंजन को आपूर्ति की जाने वाली उसी पावर केबल से कोच में बिजली की आपूर्ति होगी। कॉपी नामक टूल के साथ, इंजन के माध्यम से ओवरहेड लाइन से कोच को बिजली भेजी जाती है। इससे ट्रेन में जनरेटर के कोच की जरूरत नहीं होगी। हालांकि, आपातकालीन स्थिति में जनरेटर ट्रेनर को ट्रेन में रखा जाएगा। मूल कोच की जगह स्लीपर कोच लगाया जाएगा। इस तरह, ट्रेन की लंबाई बढ़ाए बिना कोच बढ़ जाएगा।</p> <p>अक्टूबर में बताए गए कर्मचारियों के अनुसार, इस नई तकनीक से पांच हजार कोच बदले जाएंगे। इससे ट्रेन में सीट बढ़ जाएगी, जिसमें डीजल ईंधन पर इस्तेमाल होने वाली छह अरब रुपये की वार्षिक लागत बचत भी शामिल है। एसी जनरेटर बिजली के बिना चैनल में प्रति घंटे 40 लीटर डीजल ईंधन की आपूर्ति करता है, जबकि एसी कोच बिजली आपूर्ति के साथ घंटे भर में 65-70 लीटर डीजल लेता है</p> <p>यह नई तकनीक पर्यावरण के अनुकूल होगी क्योंकि यह समान ध्वनि प्रदूषण या वायु प्रदूषण नहीं होगा। इससे हर साल हर 700 टन पर ट्रेनों से कार्बन उत्सर्जन कम करने में मदद मिलेगी।</p>
  Fri, July 12, 2019 Read Full Article

पाकिस्तान ने भारतीय हवाई क्षेत्र बंद करने से भारतीय विमान कंपनियों को हुआ 548 कर...

<p>पाकिस्तान द्वारा भारतीय हवाई क्षेत्र के बंद करने के बाद, इंडियन एयरलाइंस को 548 करोड़ &nbsp;रुपये का नुकसान हुआ। हाल ही में, पाकिस्तान ने बालाकोट में वायुसेना के एयर स्ट्राइक के बाद 12 जुलाई तक उड़ान अनुसूची का विस्तार किया है, पाकिस्तान ने अपना हवाई क्षेत्र बंद कर दिया है।<br /> इस कारण से, पश्चिम-मध्य खाड़ी देशों सहित कई देशों की यात्रा करने वाली भारतीय एयरलाइनों की उड़ानों को अरब सागर से होकर जाना पड़ता है। पाकिस्तान वायु सेना के रुकने से भारतीय एयरलाइंस को &nbsp;घाटा उठाना पड़ा</p> <p>हाल ही में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पाक वायुसीमा वायु सेना न जाकर दूसरी बायु मार्ग किर्गिस्तान की राजधानी बिश्केक गए थे। लेकिन जी -20 में भाग लेने के लिए अरब सागर और ओमान भी शामिल है। हालांकि, पाक ने अपने विमान को अपने देश से गुजरने की अनुमति दी।</p> <p>नागरिक उड्डयन मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने राज्यसभा में एक सवाल के जवाब में कहा कि पाक हवाई क्षेत्र के बंद होने के कारण, 2 जुलाई तक भारतीय विमानन कंपनी को 548 करोड़ &nbsp;रुपये का नुकसान हुआ। 491 करोड़ &nbsp;इंडिगो में 251 करोड़ &nbsp;और 31 मई हैं। स्पाइसजेट के पास 30.73 करोड़ &nbsp;और गोएयर के 2.1 नुकसान हैं।</p>
  Fri, July 5, 2019 Read Full Article

पेट्रोल और डीजल के दाम लगातार चौथे दिन भी बढ़ोतरी हुई

<p>तेल कंपनियों ने नई दिल्ली, कोलकाता, मुंबई और चेन्नई में लगातार चौथे दिन रविवार को तेल की कीमतों में लगातार वृद्धि की। पेट्रोल नौ पैसे प्रति लीटर महंगा हुआ डीजल की कीमतों में दिल्ली, कोलकाता और मुंबई में आठ पैसे और 9 पैसे प्रति लीटर की बढ़ोतरी हुई है इंडियनऑयल की वेबसाइट के अनुसार, नई दिल्ली में पेट्रोल की पूंजी चार दिनों में 32 पैसे प्रति लीटर और डीजल की कीमतों में तीन दिनों में 29 पैसे प्रति लीटर की बढ़ोतरी हुई है। नई दिल्ली, कोलकाता में तेल की कीमतें। बाई और चेन्नई क्रमशः 70.37 रुपये, 72.63 रुपये, 76.06 रुपये और प्रति लीटर 73.10 रुपये तक बढ़े। चार प्रमुख शहरों में, डीजल की कीमतें क्रमशः 64.19 रुपये, 66.11 रुपये, 67.30 रुपये और 67.90 रुपये प्रति लीटर तक बढ़ गई हैं। पिछले दिनों विदेशी बाजारों में कच्चे तेल की कीमतों में वृद्धि के कारण पेट्रोल और डीजल की कीमतें बढ़ी हैं, क्योंकि भारत ने तेल की मांग का लगभग 84 प्रतिशत आयात किया है। इसलिए, विदेशी बाजारों में कच्चा तेल महंगा है, भारत में तेल और डीजल सहित कई पेट्रोलियम उत्पाद महंगे हैं।</p> <p>हालांकि अंतर्राष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमतें पिछले सप्ताह के अंतिम सप्ताह में सुस्त थीं। लेकिन इससे पहले जबरदस्त वृद्धि के साथ, सप्ताह के दौरान ब्रेंट क्रूड 3% से अधिक बढ़ गया। बेंचमार्क क्रूड, ब्रेंट कच्चे तेल की कीमतें जून के पहले दो हफ्तों के दौरान अभी भी 60-63 डॉलर प्रति बैरल की सीमित सीमा में हैं। लेकिन पिछले दो हफ्तों में, कीमत लगभग 67 डॉलर प्रति बैरल है। ब्रेंट क्रूड ऑयल की कीमतें 60.25 से 66.85 डॉलर प्रति बैरल के बीच हैं। ऊर्जा विशेषज्ञों का कहना है कि इस समय खाड़ी क्षेत्र में दबाव के कारण गैस और डीजल की कीमतों में गिरावट देखी जा सकती है और अमेरिका और चीन के बीच कमजोर व्यापार तनाव के कारण कच्चे तेल की कीमतों में और होने की संभावना है।<br /> &nbsp;</p>
  Tue, July 2, 2019 Read Full Article

बेरोजगार युवाओं के लिए अच्छी खबर, ट्रेनों के लिए आरक्षित सीट होगी अलग कोटा

<p>रिजर्व बर्थ नहीं होने से छात्रों को परीक्षा केंद्र पर जाने में परेशानी नहीं होगी । निरीक्षण के दौरान, रेलवे एक विशेष ट्रेन ले जाएगा और कुछ ट्रेनों में, वे एक आपातकालीन कोटा के तहत एक बर्थ प्रदान करेंगे।</p> <p>छात्रों को परीक्षा केंद्र पर पहुंचने में कई समस्याएं हैं। कई बार यह पाया गया कि दूसरे राज्यों में परीक्षाएँ देने के लिए, जीवन की परवाह किए बिना ट्रेन में यात्रा करना और दूसरे राज्यों की यात्रा करना अनिवार्य था। इस कारण से, रेलवे ने 15 से 45 साल के युवाओं के लिए एक विशेष परियोजना बनाई है, रेलवे अधिकारियों के अनुसार दो मार्गों पर आपातकालीन कोटा के तहत बर्थ प्रदान करने का निर्णय लिया गया है।</p> <p>जिसमें दिल्ली-मुंबई और दिल्ली-हावड़ा चलने वाली ट्रेनें, ट्रेन संख्या 12247/12248 निजामुद्दीन-बांद्रा टर्मिनस-निजामुद्दीन शामिल हैं। और इस रूट पर चलने वाली ट्रेन संख्या 12249/12250 की पहचान हावड़ा-आनंद विहार-हावड़ा कोटा में की गई है।</p> <p>यदि छात्रों को परीक्षा देने के लिए नई दिल्ली आना है, या यदि उन्हें इस मार्ग पर किसी अन्य स्टेशन पर जाना है, तो वे ट्रेन कर्मचारियों के सहयोग से बर्ट की पुष्टि करने के लिए आवेदन कर सकेंगे। उन्हें परीक्षा के लिए प्रवेश टिकट दिखाना होगा।</p> <p>हालांकि, इन दोनों मार्गों पर यात्रियों की संख्या इतनी अधिक है कि ट्रेन भरी हुई है। कई परीक्षार्थियों के सामने रेलवे की तैयारी बौनी हो गई। विशेष ट्रेनें साबित करती हैं कि वे परीक्षण केंद्र में सभी उम्मीदवारों तक पहुंचने में विफल हैं। इसलिए, कुछ ट्रेनों में, आपातकालीन कोटा &nbsp;प्राप्त करना मुश्किल है।</p>
  Fri, June 28, 2019 Read Full Article

ट्रेन यात्रियों के लिए अच्छी खबर है। ट्रेन के भीतर वाई-फाई की सुविधा मिलेगी।

<p>वाई-फाई स्टेशन पर स्थापित करने के बाद, रेलवे अब ट्रेन के अंदर यात्रियों को वाई-फाई सुविधाएं प्रदान करता है। ताकि वे बिना किसी रुकावट के अपने कंप्यूटर और मोबाइल फोन पर वीडियो और फिल्मों का आनंद ले सकें इसके लिए रेलवे को अपना स्पेक्ट्रम मिलेगा।</p> <p>अब तक, रेलवे ने 4882 स्टेशनों में काम करते हुए वाई-फाई सुविधाओं के साथ 1603 स्टेशन स्थापित किए थे। स्टेशन वर्तमान में वाई-फाई स्थापित कर रहा है, लेकिन स्टेशन पर वाई-फाई सुविधाएं प्राप्त करने के बाद, यात्री खोज सकते हैं। इंटरनेट का उपयोग करने वाले स्थान और आस-पास की दूरी लेकिन ट्रेन के भीतर दूरी के बाद, इसका प्रभाव समाप्त हो जाएगा और फिर इंटरनेट केवल मोबाइल डेटा पर निर्भर करता है। हालांकि, के दौरान गति के साथ हस्तक्षेप है</p> <p>इस कारण से, लाइव टेलीविज़न ट्रेन के नीचे नहीं किया जा सकता है और सीसीटीवी कैमरों की लाइव छवियों की निगरानी नहीं कर सकता है। और आगामी स्टेशनों के बारे में और टीवी स्क्रीन पर आधुनिक ट्रेनों में सार्वजनिक घोषणाओं के लिए लाइव खबरें जैसे कि वंदे भारत को एक ही कारण से प्रसारित नहीं किया जाता है। ट्रेन के भीतर सभी वाई-फाई संभव हो जाएंगे।</p> <p>इसके लिए, रेलवे सरकार अपनी स्वयं की आवृत्ति का उपयोग करने की कोशिश कर रही है। जब सरकार से एक आवृत्ति प्राप्त होती है, तो रेल लाइन के स्थान पर एक मोबाइल टॉवर का निर्माण करेगी और इसे मौजूदा फाइबर ऑप्टिक केबल (ओएफसी) के साथ लिंक करेगी। उनके कोचों के भीतर जारी है वर्तमान में, स्टेशनों पर वाई-फाई के लिए निजी कंपनियों की आवृत्ति और सेटिंग्स का उपयोग किया जाता है।</p> <p>स्टेशनों और मार्गों के बीच मजबूत वाई-फाई की उपलब्धता के साथ, इंटरनेट ब्राउज़िंग ट्रेन के भीतर आसान हो जाएगी और बफर समस्याओं को बार-बार खत्म कर देगी। ये सुविधाएं व्यस्त अधिकारियों के लिए उपयोगी होंगी और वे उस कार्य का प्रबंधन करने में सक्षम होंगे जो कि चलते-फिरते किए जाने की आवश्यकता है।</p> <p>यही नहीं, यह सुविधा यात्रियों की सुरक्षा सुनिश्चित करने और रेल दुर्घटनाओं को कम करने में भी मदद करती है। कोच के अंदर सीसीटीवी के लाइव वीडियो के नियंत्रण कक्ष से वास्तविक समय की निगरानी आसानी से अवांछित तत्वों को नियंत्रित और संग्रहीत करेगी।</p> <p>भविष्य में वाई-फाई का उपयोग ट्रेन सुरक्षा और चेतावनी प्रणाली (टीपीडब्ल्यूएस) के माध्यम से भविष्य में होने वाली रेल दुर्घटनाओं को रोकने में मदद करेगा। वर्तमान में, इस जीपीएस का उपयोग करने वाले यूरोपीय सिस्टम का उपयोग केवल इसलिए नहीं किया जाता है क्योंकि वाई-फाई पटरियों का समर्थन नहीं करता है। लहरें बाधित होंगी। यह समझौता कोहरे के बीच दुर्घटनाओं को प्रभावी ढंग से रोकेगा और ट्रेनों को लेट होने से रोकेगा।</p>
  Tue, June 25, 2019 Read Full Article

बीएसएनएल इंजीनियरों ने पीएम मोदी को लिखा पत्र, कंपनी को आगे बढ़ाने के लिए की अपील...

<p>राज्य के स्वामित्व वाली दूरसंचार कंपनी बीएसएनएल में इंजीनियरों और लेखा विशेषज्ञों के संघ ने कंपनी के पुनर्वास में हस्तक्षेप करने के लिए प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखा उन्होंने कहा कि बीएसएनएल का कोई कर्ज नहीं है और बाजार में हिस्सेदारी लगातार बढ़ रही है। इस स्थिति में, कंपनी को पुनर्गठित करना चाहिए। कंपनी के पास उन कर्मचारियों के लिए जिम्मेदारी होनी चाहिए जो ठीक से काम नहीं कर रहे हैं। एसोसिएशन ऑफ ग्रेजुएट इंजीनियर्स एंड टेलिकॉम ऑफ इंडिया (AIGETOA) ने इस मामले को लेकर 18 जून को प्रधानमंत्री को पत्र लिखा था। पत्र में, प्रधानमंत्री ने कंपनी के नकदी संकट को खत्म करने के लिए बजट का अनुरोध किया। यह कहा कि नकदी संकट के कारण, कंपनी के संचालन और सेवाएं प्रभावित हुईं। पत्र ने कहा &quot;हम मानते हैं कि वर्तमान नकदी संकट को दूर करने के लिए सरकार से न्यूनतम समर्थन के साथ, बीएसएनएल को फिर से लाभदायक कंपनियों में शामिल किया जा सकता है।&quot;<br /> एसोसिएशन ने कहा कि उसे एक प्रणाली बनानी चाहिए जो बीएसएनएल में कर्मचारियों के प्रदर्शन पर केंद्रित है। इसे बेहतर प्रदर्शन वाले कर्मचारियों के लिए पुरस्कृत किया जाएगा, जबकि कम प्रदर्शन करने वाले कर्मचारियों को जवाब मिलेगा।<br /> सरकारी दूरसंचार कंपनियों को बीएसएनएल और एमटीएनएल 2010 के बाद से नुकसान है। उस समय, इन कंपनियों को अपने संचालन में सभी कार्यों के लिए नीलामी में स्पेक्ट्रम की कीमत का भुगतान करने के लिए कहा गया था। एमटीएनएल नई दिल्ली में संचालित होता है। मुंबई और बीएसएनएल शेष 20 दूरसंचार क्षेत्रों में काम करते हैं</p> <p>जबकि एमटीएनएल की कमी जारी है, बीएसएनएल ने 2014-15 में Rs.672 करोड़, 2015-16 में Rs.3885 करोड़ और 2016-60 में Rs.1,684 करोड़ का परिचालन लाभ दर्ज किया। कहा कि खराब बाजार की स्थिति के कारण, बीएसएनएल सहित सभी दूरसंचार क्षेत्र दबाव में हैं इसके बावजूद बीएसएनएल की बाजार हिस्सेदारी बढ़ी है।</p> <p>इंजीनियर्स और अधिकारियों के संघ ने कहा कि कठिन परिस्थितियों के बावजूद, बीएसएनएल पर्याप्त है और इसमें कोई देनदारियां नहीं हैं, जैसा कि अन्य बड़े पैमाने पर दूरसंचार कंपनियों के विपरीत है। दूरसंचार क्षेत्र की अन्य कंपनियां कर्ज के बोझ तले दबी हैं। बैंक और वित्तीय संस्थान पत्र में कहा गया है कि बीएसएनएल कर्मचारियों को वेतन देने में कभी पीछे नहीं रहा। यह केवल एक महीने में होता है, लेकिन कंपनी अभी भी बाहरी समर्थन के बिना काम कर रही है।</p>
  Mon, June 24, 2019 Read Full Article

आरबीआई ने कहा कि अब शून्य बैलेंस बाले खाताधारकों को मिलेंगी ऐसी सुविधाएं मुफ्त द...

<p>अब जो ग्राहक जीरो बैलेंस के साथ खाता खोलेंगे, उन्हें बैंक द्वारा चेक बुक प्राप्त होगी। भारतीय केंद्रीय बैंक (RBI) को सोमवार को बुनियादी बचत बैंक खातों (BSBD) से संबंधित कुछ नियमों को छोड़ना होगा। इससे अन्य खाताधारकों को सुविधा मिलेगी। जमा खाते का एक मूल बचत खाता एक खाता है जिसे शून्य शेष राशि के साथ खोला जा सकता है। पहले, खाते के मालिक को सामान्य बचत खाते में उपलब्ध कोई अतिरिक्त सुविधाएं नहीं मिली थीं। लेकिन केंद्रीय बैंक से छूट के बाद, उन्हें अतिरिक्त सुविधाएं प्राप्त होंगी</p> <p>इसी समय, बैंक इन खातों के मालिकों से न्यूनतम राशि बनाए रखने के लिए कहने में असमर्थ है। जबकि नियमित बचत खातों में न्यूनतम बैलेंस रखने की आवश्यकता होती है और उन खाताधारकों को अतिरिक्त सुविधाओं के लिए भुगतान करना होगा।</p> <p>RBI ने कहा है कि बैंक BSBD खाते को वित्तीय समेकन अभियान के तहत बचत खाता के रूप में बिना किसी शुल्क के खाता स्वामियों को उपलब्ध सुविधाओं के तहत सुविधा प्रदान करता है। RBI ने कहा कि सुविधाओं के अलावा। न्यूनतम, बैंक चेकबुक के मुद्दे सहित अतिरिक्त मूल्य वर्धित सेवाएं प्रदान करने के लिए स्वतंत्र है। RBI का कहना है कि अतिरिक्त सुविधाएं प्रदान करके, ये खाते यही कारण है कि गैर BSBD के लिए खाते में नहीं होंगे।</p> <p>अतिरिक्त लाभ जो बीएसबीडी खाताधारकों को मिलेगा, वे हैं एटीएम कार्ड, एटीएम से महीने में चार बार निकासी और बैंकों में जमा। इसी समय, एक महीने में खाते से जमा और निकासी की जा सकती है। इधर, सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया ने स्पष्ट किया कि वह अलग-अलग सुविधाओं वाले ग्राहकों को न्यूनतम राशि प्रदान करने के लिए बैंक से नहीं मांगे। बीएसबीडी खाता नियमों के तहत, खाताधारकों को न्यूनतम शेष राशि रखने की आवश्यकता नहीं है और अब न्यूनतम सुविधाएं मुफ्त होंगी।</p>
  Fri, June 21, 2019 Read Full Article

Ayushman Bharat Yojna : लाभार्थियों को नहीं मिलेगा दूसरी मेडिकल स्कीमों का लाभ |...

<p>नई दिल्ली, जेएनएन आयुष्मान भारत बढ़ता देखते हुए सर्कार ने यह फैसला लिया है, सामाजिक क्षेत्र के सामाजिक सहायता कार्यक्रम में बड़े बदलाव हुए हैं। इसके तहत सहायता &nbsp;अब सिर्फ उन्हीं को मिलेगी, जो आयुष्मान भारत योजना के लाभार्थी नहीं है।सामाजिक न्याय और अधिकारिता मंत्रालय ने इसके लिए दिशानिर्देश जारी किए हैं। दोनों रूपों में, गरीब परिवारों को चिकित्सा सहायता है।</p> <p>सामाजिक न्याय और अधिकारिता मंत्रालय ने यह कदम ऐसे समय में उठाया है जब उनकी चिकित्सा सहायता के लिए कई ऐसे आवेदन सामने आए हैं, जो परियोजना के लाभार्थी हैं। आयुष्मान भारत, मंत्रालय के अनुसार, जब उन्होंने आयुष्मान के तहत पूर्ण चिकित्सा सहायता प्राप्त की, तो उन्हें किसी अन्य योजना को नहीं देखना चाहिए।</p> <p>मंत्रालय की ओर से एससी-एसटी के लिए चलाए जा रहे चिकित्सा सहायता कार्यक्रम के अनुसार, किडनी प्रत्यारोपण जैसी गंभीर बीमारियों में केवल साढ़े तीन लाख की सहायता दी जाएगी। आयुष्मान भारत परियोजना, गरीब परिवारों को पांच सौ हजार रुपये मिलेंगे। तिथि तक उपचार सहायता प्रदान करें इसी तरह, डॉ। अंबेडकर फाउंडेशन द्वारा संचालित चिकित्सा सहायता कार्यक्रम में सिर्फ 1.25 &nbsp;लाख रुपये में दिल की सर्जरी की जायगी ।</p> <p>मंत्रालय के वरिष्ठ अधिकारियों के अनुसार, एससी-एसटी दंत चिकित्सा सहायता कार्यक्रम में परिवर्तन देश की वृद्धि को ध्यान में रखते हैं। यह निर्णय लिया गया है कि सहायता जारी करने से पहले, यह पूरी तरह से जांचा जाना चाहिए कि संबंधित परिवार आयुष्मान भारत परियोजना का लाभार्थी नहीं है।</p> <p>विशेष दर्जा एससी-एसटी के लिए चिकित्सा सहायता कार्यक्रम के तहत है। मंत्रालय की ओर से केवल उन परिवारों को तीन सौ हजार रुपये से कम के वेतन के साथ सहायता प्राप्त होगी। इसके अलावा, इस परियोजना में गुर्दे, हृदय, यकृत, कैंसर, मस्तिष्क की सर्जरी आदि जैसे गंभीर रोग शामिल हैं<br /> &nbsp;</p>
  Wed, June 19, 2019 Read Full Article

आज डॉक्टरों ने की देशभर में हड़ताल: बंगाल के बाद अब दिल्ली AIIMS के डॉक्टर के सा...

<p>नई दिल्ली: देश की राजधानी के कई सार्वजनिक और निजी अस्पतालों में सोमवार को स्वास्थ्य सुविधाएं प्रभावित हो सकती हैं, कई डॉक्टरों ने अपने साथियों का समर्थन करने के लिए एक दिन के लिए कार्य बहिष्कार करने का फैसला किया है। पश्चिम बंगाल में विरोध प्रदर्शन कर रहे हालांकि अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (AIIMS) ने पहले इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (IMA) द्वारा आहूत विरोध प्रदर्शन में भाग लेने से इनकार कर दिया था, लेकिन रविवार देर रात AIIMS के डॉक्टर के के साथ बदसलूकी हुई उसके बाद डाक्टरों ने बिरोध प्रदर्शन करना सुरु कर दिया | डॉक्टर सोमवार को दोपहर 12:00 बजे से सोमवार (मंगलवार) को सुबह 6:00 बजे हड़ताल करेंगे। विरोध प्रदर्शन करने वाले डॉक्टरों को केंद्रीय अधिनियम में ले जाया गया। इस स्थिति में डॉक्टरों के खिलाफ हिंसा और आईएमए डॉक्टरों के साथ स्थिति के लिए, 17 जून को देश भर में हड़ताल की घोषणा की। एसोसिएशन के सदस्य यहां मुख्यालय में धरना भी देंगे.<br /> सफदरजंग अस्पताल, लेडी हार्डिंग मेडिकल कॉलेज अस्पताल, आरएमएल अस्पताल और नई दिल्ली के जीटीबी सरकारी अस्पताल, डॉ। बाबा साहेब अंबेडकर अस्पताल, संजय गांधी मेमोरियल अस्पताल और दीनदयाल उपाध्याय अस्पताल के डॉक्टर काम नहीं करेंगे। सोमवार को, आईएमए ने कहा कि सभी आउटबाउंड विभागों (ओपीडी), नियमित सर्जिकल अस्पताल सेवाओं और वार्ड में चिकित्सा यात्राओं को सोमवार को सुबह 6:00 बजे से सुबह 6:00 बजे के बीच निलंबित कर दिया जाएगा। इमरजेंसी सेवाएं भी होंगी अगले काम</p> <p>दिल्ली मेडिकल एसोसिएशन (DMA) और फेडरल मेडिकल फेडरेशन (FORDA) ने भी हड़ताल का समर्थन किया है। AIIMS ने कल देर रात एक बयान में कहा कि वह देशभर में विरोध प्रदर्शन में हिस्सा नहीं लेगा। आईएमए द्वारा, लेकिन सोमवार को आठ बजे विरोध मार्च निकाला जाएगा। &rsquo;&rsquo; मरीज की देखभाल के मद्देनजर एम्स निवासी मेडिकल एसोसिएशन (आरडीए) ने विरोध में शामिल नहीं होने का फैसला किया है। लेकिन प्रदर्शन सुबह 8 और 9 बजे किए जाएंगे। &rdquo;</p>
  Mon, June 17, 2019 Read Full Article

SCO में नरेंद्र मोदी ने की-शी जिनपिंग से मुलाक़ात | क्या अब सुधरेगा डोकलाम का मा...

<p>नरेंद्र मोदी की यह उनकी निजी यात्रा है। उस दौरान उनके या उनके किसी कर्मचारी का कोई सहयोगी नहीं था। दोनों ने सीधे बात की।</p> <p>दो दिन, वे एक यात्रा पर गए, बात करने की कोशिश की, बात की।</p> <p>यह कहा गया है कि दोनों के बीच दोस्ती शुरू होने के बाद और दोनों देशों के बीच विश्वास की कमी थी, जिसे कम करने की कोशिश की जा रही थी।</p> <p>इसी संदर्भ में बुधवार को किर्गिस्तान की राजधानी बिश्केक में आयोजित दोनों शंघाई सहयोग संगठन (एससीओ) की बैठक में यह देखना होगा कि वे चीन और संबंधों में थोड़ा सुधार ला सकते हैं। भारत की अपनी व्यक्तिगत मित्रता के साथ<br /> जहां तक रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन और जिन पिंग का संबंध है, चीन और रूस के बीच अच्छे संबंध हैं।</p> <p>लेकिन अब सवाल यह उठता है कि भारत शंघाई कोऑपरेशन ऑर्गनाइजेशन में जाकर इन निजी यात्राओं से कैसे सफल हो सकता है?</p> <p>पहले आठ वर्षों के दौरान भारत ने शंघाई सहयोग संगठन में भाग नहीं लिया। पिछले लगभग एक दशक में, रूस, चीन और मध्य एशिया के देशों सहित इसके बाद, भारत और पाकिस्तान को सदस्यों में मिला दिया गया और यह डेढ़ साल से अधिक हो गया।</p> <p>भारत और पाकिस्तान की भागीदारी के बाद, शंघाई सहयोग संगठन का चेहरा बहुत बदल गया है।</p> <p>यह समझा जाता है कि जब भारत, चीन और रूस एक साथ इकट्ठा होते हैं, तो दुनिया की आधी आबादी शंघाई सहयोग संगठन का प्रतिनिधित्व करती है।<br /> एससीओ का पहला मुद्दा आतंकवाद है। यह भारत के लिए भी एक समस्या है। भारत ने बार-बार कहा है कि पाकिस्तान देश में आतंकवाद को बढ़ावा दे रहा है क्योंकि भारत ने हमेशा संघर्ष किया है।</p> <p>पिछली बैठक में सुषमा स्वराज से मिली थीं और उन्होंने इस मुद्दे को उठाया था।</p> <p>चीन और पाकिस्तान में दोस्ती पाकिस्तान भी एससीओ का हिस्सा है। इसलिए इस स्थिति में चीन और रूस नहीं चाहते कि मैं भारत और पाकिस्तान के बीच रहूं।</p> <p>लेकिन भारत का कहना है कि इसका हमसे कोई लेना-देना नहीं है। इस घटना में कि आतंकवाद को रोका जाता है, यह जारी है और यह एक बड़ी समस्या है।</p> <p>दूसरी बड़ी समस्या यह है कि चीन और अमेरिका के बीच आर्थिक संबंध खराब हो रहे हैं। संयुक्त राज्य अमेरिका ने चीन से बड़ी मात्रा में करों का आरोप लगाया है जो अपने बाजारों में चीनी उत्पादों को नहीं बेचते हैं।</p> <p>इन कार्यों के बाद, चीन एक धीमी अर्थव्यवस्था और विभिन्न उद्योगों का सामना कर रहा है।</p> <p>इस स्थिति में, चीन चाहता है कि एससीओ में सभी देश संयुक्त राज्य अमेरिका से मिलें और सामना करें।</p>
  Fri, June 14, 2019 Read Full Article

पाकिस्तान से आ रहा बहुत बड़ा चक्रवती तूफान, चपेट में होगा पूरा उत्तर भारत; अलर्ट...

<p>दो दिनों में &nbsp;नई दिल्ली में सांस लेना मुश्किल हो सकता है, दिल्ली में भीषण गर्मी का सामना करना पड़ रहा है। पाकिस्तान और अफगानिस्तान से धूल और धूल के बड़े तूफान बुधवार को दिल्ली, नई दिल्ली और एनसीआर आ सकता है इसका असर दो दिनों तक रहने की उम्मीद है। इंडियन ट्रिप ट्रिप फेडरल इंस्टीट्यूट ने मंगलवार शाम को चेतावनी जारी की। केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड भी सभी स्थितियों पर नजर रखता है।</p> <p>भारतीय सफारी परियोजना के निदेशक डॉ। गुएरफान बेग ने कहा कि कराची और पाकिस्तान के सिस्तान बेसिन में धूल का एक बड़ा तूफान, तूफान भारत की ओर बढ़ रहा है और बुधवार को उम्मीद है कि अधिकांश भारत &nbsp;कई हिस्सों को अपनी चपेट में ले लेगा। &nbsp;। अधिकांश उत्तर की ओर यह तूफान राजस्थान के थार रेगिस्तान की धूल को और गंभीर बना देगा।</p> <p>सफर इंडिया द्वारा जारी अधिसूचना के अनुसार, इससे पीएम 2.5 और पीएम 10 दोनों की मात्रा में वृद्धि होगी। वायु गुणवत्ता का स्तर बहुत कम स्तर से गंभीर स्तर तक पहुंच जाता है। इसलिए, साँस लेने वाले रोगियों को साँस लेने में कठिनाई हो सकती है और लोगों को इस गर्मी में स्वास्थ्य मास्क पहनने के लिए मजबूर किया जा सकता है। हालांकि, सीपीसीबी पूरी स्थिति की निगरानी कर रहा है।</p> <p>सफर इंडिया की रिपोर्ट के अनुसार, मंगलवार शाम, नई दिल्ली का वायु सूचकांक 387 पर पहुंच गया, जो सबसे खराब श्रेणी में है। गर्मियों के दौरान, पहली बार अधिक प्रदूषण का स्तर दर्ज किया जाता है। जबकि एनसीआर में सबसे प्रदूषित शहर एयर इंडेक्स 353 पीएम 10 पर ग्रेटर नोएडा है। स्तर सामान्य के 4 गुना और पीएम 2.5 का स्तर सामान्य से दोगुना है।</p>
  Wed, June 12, 2019 Read Full Article

भारत के रेलवे स्टेशन पर अब और बढ़ेगी चमक फ्रांस 7,00,000 यूरो का अनुदान देगा

<p>भारतीय रेलवे विकास कंपनी (IRSDC) ने सोमवार को भारत में रेलवे स्टेशन की क्षमता को विकसित करने के लिए 7 मिलियन यूरो के अनुदान के तहत फ्रांसीसी राष्ट्रीय रेलवे (एसएनसीएफ) और फ्रांसीसी विकास एजेंसी (एएफडी) के साथ एक त्रिपक्षीय समझौते पर हस्ताक्षर किए।</p> <p>इस समझौते पर रेल राज्य मंत्री सुरेश अंगाडीने हस्ताक्षर किए । फ्रांस के राज्य मंत्री जीन-बैप्टिस्ट लेमोन, फ्रांसीसी राजदूत अलेक्जेंडर ज़िग्लर और भारत में फ्रांसीसी दूतावास और भारतीय रेलवे के वरिष्ठ अधिकारी</p> <p>भारतीय रेलवे ने एक बयान में कहा कि, इस समझौते के तहत, AFD ने भारत में रेलवे स्टेशन विकास परियोजना के लिए क्षमता निर्माण का समर्थन करने के लिए IRSDC के तकनीकी साझेदार के रूप में SNF-Hbbs और Connexions के साथ भागीदारी की है, जो 700,000 एरोस के बराबर है। देने के लिए आईआरएसडीसी या भारतीय रेलवे के साथ इसका कोई वित्तीय दायित्व नहीं होगा।</p>
  Tue, June 11, 2019 Read Full Article